सुचेता कृपलानी की गांधीवाद विचारधारा

Authors

  • Jyoti

Keywords:

स्वतंत्रताए सेनानी, आंदोलन

Abstract

गांधीवाद पर सुचेता कृपलानी का प्रवचन, समकालीन सामाजिक-राजनीतिक संदर्भों में इसकी प्रासंगिकता और निहितार्थ की सूक्ष्म समझ प्रदान करता है। कृपलानी, भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में एक प्रमुख व्यक्ति और महात्मा गांधी के करीबी सहयोगी, गांधी के दर्शन और भारतीय संदर्भ में इसके अनुप्रयोग में अमूल्य अंतर्दृष्टि प्रदान करते हैं। कृपलानी के लेखन, भाषणों और साक्षात्कारों से आकर्षित, गांधीवाद की उनकी व्याख्या, अहिंसा, सत्याग्रह और सर्वाेदय के अपने मूल सिद्धांतों पर प्रकाश डालती है। यह भारत के स्वतंत्रता संग्राम में गांधी की भूमिका और न्यायसंगत और न्यायसंगत समाज के लिए उनकी दृष्टि पर कृपलानी के दृष्टिकोण की जांच करता है।
मुख्य शब्द रू स्वतंत्रताए सेनानीए आंदोलनए गांधीवादए विचारधारा इत्यादि।

References

डम्स डॉटररू द लाइफ ऑफ सुचेता कृपलानीष् लेखकरू मणिकुंतला सेन (1984)

ष्आधुनिक भारत के निर्माताष् लेखकरू रामचंद्र गुहा (2011)

ष्भारतीय महिला और राष्ट्रवादरू द यूपी स्टोरीष् लेखिकारू कुसुम शर्मा (2002)

ष्भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में महिलाओं की भूमिकाष् लेखकरू आशुतोष कुमार ठाकुर (2018)

कुमार, राधा. ष्द हिस्ट्री ऑफ डूइंगरू एन इलस्ट्रेटेड अकाउंट ऑफ मूवमेंट्स फॉर वुमन राइट्स एंड फेमिनिज्म इन इंडिया 1800-1990।ष् जुबान बुक्स, 1993।

शर्मा, शशि प्रभा। ष्भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन में महिलाएंरू अनदेखी चेहरे और अनसुनी आवाजें, 1930-42।ष् ऋषि प्रकाशन भारत, 2016।

नंदा, बी.आर. ष्महात्मा गांधी एक जीवनी।ष् ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस, 2002।

चक्रवर्ती, विद्युत, और राजेंद्र के. पांडे। ष्आधुनिक भारतीय राजनीतिक विचाररू पाठ और संदर्भ।ष् ऋषि प्रकाशन भारत, 2009।

सरकार, सुमित। आधुनिक भारत 1885-1947। मैकमिलन इंडिया, 1983। आधुनिक भारतीय इतिहास का एक व्यापक अध्ययन, जिसमें भारतीय स्वतंत्रता संग्राम और सुचेता कृपलानी जैसे नेताओं की भूमिका की चर्चा शामिल है।

वोलपर्ट, स्टेनली भारत का एक नया इतिहास। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस, 2008। यह पुस्तक भारतीय इतिहास पर एक व्यापक परिप्रेक्ष्य प्रदान करती है, जिसमें भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन और सुचेता कृपलानी और महात्मा गांधी जैसे नेताओं की भूमिका शामिल है।

Downloads

Published

2024-03-11

How to Cite

Jyoti. (2024). सुचेता कृपलानी की गांधीवाद विचारधारा. Innovative Research Thoughts, 10(1), 98–102. Retrieved from https://irt.shodhsagar.com/index.php/j/article/view/762